अग्नि शमन सेवाएं

किसी आपातस्थिति में अग्नि शमन सेवाओं की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। वास्तव में विकसित विष्व में अग्नि शमन सेवाओं को न केवल आग पर काबू पाने के लिए बल्कि आपातकालीन सेवाओं के रूप में बचाव अभियानों के लिए भी नियोजित किया जाता है। स्थायी अग्नि शमन सलाहकार समिति के अनुसार, निर्दिश्ट किए गए मानदंडों के आधार पर दमकल केंद्रों, अग्नि शमन वाहनों तथा कार्मिकों के संबंध में देष में मौजूद कमी निम्नानुसार हैः

 

दमकल केंद्र.................................................97.5%4

अग्नि शमन एवं बचाव वाहन.........................80.04%

अग्नि शमन कार्मिक ................................................96.28%

 

इन कमियों को ध्यान में रखते हुए एनडीएमए ने अग्नि शमन सेवाओं के पुनर्जीवन के लिए निधियों के आवंटन हेतु 13वें वित आयोग के समक्ष इस मामले को सषक्त रूप में रखा है। देष में अग्नि शमन सेवाओं के पुनर्गठन के लिए महत्व तथा आवष्यकता को महसूस करते हुए, वित आयोग ने उन राज्यों को विषेश रूप से अनुदान सहायता आवंटित की है जिन्होंने आयोग के समक्ष विषेश प्रस्ताव रखे हैं। इसके साथ ही आयोग ने 12वें वित आयोग द्वारा किए गए आवंटन की तुलना में स्थानीय निकायों को दिए गए अनुदान को दोगुने से अधिक कर दिया है और साथ ही सिफारिष की है कि स्थानीय निकायों को अग्नि षमन सेवाओं पर अधिक राषि खर्च करनी चाहिए।

एनडीएमए ने देष में अग्नि शमन सेवाओं के स्तर-निर्धारण, उपस्कर की किस्म और प्रषिक्षण पर राश्ट्रीय आपदा प्रबंधन दिषानिर्देषों को जारी किया है।