प्रस्तावना-प्रशमन

पूर्व में, आपदा प्रबंधन का तरीका मुख्यतः प्रतिक्रियात्मक तथा राहत-केंद्रित रहा है। अब राष्ट्रीय स्तर पर आमूल-चूल बदलाव हुआ है जिसमें पूर्ववर्ती कार्रवाई केंद्रित तरीके के स्थान पर रोकथाम, प्रशमन तथा तैयारी पर जोर देते हुए आपदाओं के संपूर्ण तथा एकीकृत प्रबंधन के तरीके को अपनाया जाता है। इन प्रयासों का लक्ष्य विकासात्मक लाभ को संरक्षित करना तथा लोगों के जीवन, आजीविका तथा सम्पति के नुकसान को कम-से-कम करना भी है। रोकथाम तथा प्रशमन से सुरक्षा में प्रभावी सुधार होने में सहायता मिलती है।

 

संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी उप प्रभाग


संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी उप प्रभाग की संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी से संबंधित आधारढाूचे की स्थापना से जुड़े विभिन्न मामलों में एक भूमिका होती है। यह उप प्रभाग राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन सेवा (एन.डी.एम.एस.) प्रायोगिक परियोजना का कार्य देखता है। यह सोशल मीडिया साइटों जैसे फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब आदि के रखरखाव का भी काम करता है। यह उप प्रभाग राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एन.डी.आर.एफ.) के संचार मामलों पर सलाह प्रदान करने के लिए उत्तरदायी है।