कार्यकलाप तथा उत्तरदायित्व

एक शीर्ष निकाय के रूप में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के पास आपदाओं के बारे में समयबद्ध और कारगर मोचन सुनिश्चित करने के लिए आपदा प्रबंधन हेतु नीतियाँ, योजनाएं और दिशानिर्देष निर्धारित करने का है। इसके लिए, एनडीएमए के पास निम्नलिखित कार्य करने का उत्तरदायित्व है:-

  • आपदा प्रबंधन के विषय में नीतियां बनाना ;
  • राष्ट्रीय योजना को अनुमोदित करना ;
  • भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों द्वारा राष्ट्रीय योजना के अनुसार तैयार की र्गइं योजनाओं को अनुमोदित करना ;
  • राज्य योजना बनाने के लिए राज्य प्राधिकारियों के अनुपालन हेतु दिषानिर्देष निर्धारित करना ;
  • भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों/विभागों द्वारा विकास योजनाओं और परियोजनाओं में आपदा निवारण के उपायों को समेकित करने तथा आपदा के प्रभाव का प्रषमन करने के प्रयोजनार्थ अपनाए जाने वाले दिषानिर्देष निर्धारित करना ;
  • आपदा प्रबंधन की नीति और योजना के प्रवर्तन और कार्यान्वयन में समन्वय करना ;
  • आपदा प्रशमन के प्रयोजनार्थ धनरराशि (फंड्स) की व्यवस्था की सिफारिश करना ;
  • बड़ी आपदाओं से प्रभावित अन्य देशों को ऐसी सहायता सुलभ कराना जैसी केंद्रीय सरकार द्वारा तय की जाए ;
  • आपदा निवारण के लिए, अथवा आपदा की स्थिति की आशंका से या आपदा से निपटने के लिए प्रशमन, अथवा तैयारी और क्षमता निर्माण के लिए ऐसे अन्य कदम उठाना जो एन.डी.एम.ए. आवश्यक समझे ;
  • राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान (एन.आई.डी.एम.) के कामकाज के लिए व्यापक नीतियां और दिशानिर्देष निर्धारित करना ;